21 बजे zina

21 बजे zina

time:2021-10-28 19:07:13 अगले 3-6 महीने में कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच जाएगी कंपनियों की भर्ती : सर्वे Views:4591

एयू स्लॉट्स नो डिपॉजिट बोनस 21 बजे zina 188bet शक्ति,fun88 android,lovebet 2021,lovebet जी,lovebet एस/पी,लवबेथपेज,बकारट 450,बैकरेट लिंक,सर्वश्रेष्ठ पांच पुस्तकें,ऑनलाइन कैसीनो का बड़ा विजेता,कैसीनो गेम्स ऐप,शतरंज 0 एलो,क्रिकेट 6 गेंद 6 छक्का,दुनिया में क्रिकेट टीम,निर्यात पोषण,फुटबॉल 5 नंबर,फ़ुटबॉल और रूंबा,एच खेल चप्पल,जमीन पर फुटबॉल कैसे खेलें,क्या लवबेट हम में कानूनी है,जंगल रम्मी.कॉम नियम और शर्तें,लाइव कैसीनो नए ग्राहक ऑफ़र,लॉटरी यूरोप,लूडो निंजा लाइट,आधिकारिक राजकुमार ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन गेम हैक ऐप डाउनलोड,ऑनलाइन प्रतिष्ठा,पेरिफेरल फुटबॉल टर्म,पोकर नियम हिंदी में,रूले कैलकुलेटर,रम्मी 360,रम्मीकल्चर मोबाइल ऐप,स्लॉट 101,स्पोर्ट्स जीके प्रश्न हिंदी में,सुपर बेटिंग मुफ्त है,सबसे अच्छा फुटबॉल टीम गीत,अंडुह १८८बेट,दुनिया में सबसे बड़ा चीनी रूले कौन सा है,64 स्टेटस वीडियो डाउनलोड,ऑनलाइन पैसे बनाएं translate,क्रिकेट घोषणा,गोवा स्थापना दिवस,तीन पत्ती स्टार गोल्ड,बरसात आने की संभावना,मछली पकड़ने का राजा,स्टेटस ओनली, .अगले 3-6 महीने में कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच जाएगी कंपनियों की भर्ती : सर्वे

इस सर्वे में देशभर के 1,327 रिक्रूटर्स और कंसल्‍टेंट्स ने हिस्सा लिया.
मुंबई : बाजार में हालात सुधरने के साथ कंपनियां भी नए साल में रिकवरी को लेकर आशावान हैं. करीब 26 फीसदी रिक्रूटर्स (नियोक्ताओं) को उम्मीद है कि अगले 3-6 महीने में भर्तियां कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच सकती हैं.

वहीं, 34 फीसदी नियोक्ताओं का मानना है कि इसमें छह महीने से एक साल तक का समय लग सकता है. एक सर्वे में यह निष्कर्ष सामने आया है. रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के 'हायरिंग आउटलुक सर्वे' के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर आशावान लग रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : कितनी सेफ है आपकी जॉब? खतरों के इन 7 संकेतों के बारे में जान लें

कंपनी ने एक बयान में बताया कि इस सर्वे में देशभर के 1,327 रिक्रूटर्स और कंसल्‍टेंट्स ने हिस्सा लिया. नौकरी डॉट कॉम ने इसके अलावा अपने प्‍लेटफॉर्म पर उपलब्ध एक लाख से अधिक नियोक्ताओं के आंकड़ों का भी विश्लेषण किया.

कोविड से पहले का स्तर तय करने के लिए कंपनी ने जनवरी और फरवरी के रोजगार संबंधी आंकड़ों को आधार बनाया. सर्वेक्षण में पता चला कि मेडिकल/हेल्‍थकेयर, आईटी, बीपीओ/आईटीईएस जैसे उद्योगों पर कम प्रभाव पड़ा. लेकिन, खुदरा, हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल जैसे कुछ क्षेत्रों ने परिस्थिति का सामना करने में संघर्ष किया.

इसे भी पढ़ें : कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

इसमें कहा गया है कि 2020 की शुरुआत कुल मिलाकर सकारात्मक हुई. लेकिन, बाद में कोविड-19 ने इसे प्रभावित किया. लॉकडाउन के बाद इसमें ठहराव आया. पर, जून में अनलॉक की शुरुआत से ही रोजगार बाजार में सुधार भी होने लगा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

नौकरी डॉट कॉमहायरिंग आउटलुक सर्वेरोजगार बाजारकोविड से पहले का स्‍तरभर्ती

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.कैसा है एलएंडटी टैक्‍स एडवांटेज म्‍यूचुअल फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैईटीएफ के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
जुआ साइटें प्रथम-स्तरीय और द्वितीय-स्तरीय एजेंटों की भर्ती करती हैं

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.

उत्पत्ति कैसीनो गुरु

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.

ऑनलाइन जुआ आईपीएल

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता है

लॉटरी दोपहर नतीजा

सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.

आप खेल फुटबॉल

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी